1 सितंबर से बदल रहे हैं बैंक से जुड़े ये 7 नियम, जान लीजिए रहेंगे टेंशन फ्री

1 सितंबर 2019 से बैंक से जुड़े कई नियम बदलने वाले हैं, जो आपके जीवन पर सीधा असर डालने वाले हैं. आइए आपको बताते हैं इन नियमों के बारे में सबकुछ:

1 सितंबर से बदल रहे हैं बैंक से जुड़े ये 7 नियम, जान लीजिए रहेंगे टेंशन फ्री
1 सितंबर 2019 से बैंक से जुड़े कई नियम बदल जाएंगे

1 सितंबर 2019 से बैंक से जुड़े कई नियम बदलने वाले हैं, जो आपके जीवन पर सीधा असर डालने वाले हैं. जहां एक ओर बैंक घर खरीदना सस्ता कर रहे हैं. वहीं दूसरी ओर बैंक के टाइमिंग भी बदलने वाले हैं. स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) का होम लोन सस्ता हो जाएगा, जिसका सीधा असर आपकी जेब पर पड़ेगा. आइए आपको बताते हैं इन नियमों के बारे में सबकुछ:

59 मिनिट में होम, ऑटो और पर्सनल लोन
इस त्योहारी सीजन सरकारी बैंकों से 59 मिनट में होम लोन, ऑटो लोन और पर्सनल लोन (Personal Loan in 59 minute) लेने की सुविधा मिलनी शुरू हो सकती है. कई सरकारी बैंकों की 1 सितंबर से ग्राहकों को नई सुविधा शुरू करने की योजना है. ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (OBC) ने भी ‘psbloansin59minutes’ पर यह सुविधा शुरू करने का फैसला लिया है.

SBI के ग्राहकों को RLLR पर होम लोन मिलेगा
1 सितंबर से स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) ग्राहकों के लिए होम लोन लेकर घर खरीदना सस्ता हो जाएगा. दरअसल, SBI का रेपो लिंक्ड लेंडिंग रेट (RLLR) ने होम लोन इंडस्ट्री का पैटर्न ही चेंज कर दिया है. एसबीआई ने होम लोन की ब्याज दर में 0.20 फीसदी की कटौती की है. 1 सितंबर से होम लोन पर ब्याज दर 8.05 फीसदी होगी.


15 दिन में बैक जारी करेंगे किसान क्रेडिट कार्ड (KCC)
1 सितंबर से किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) बनवाना और भी आसान हो जाएगा. अधिकतम 15 दिनों में बैंक को किसान क्रेडिट कार्ड जारी करना होगा. केंद्र सरकार ने किसानों को राहत देते हुए बैंकों से किसान क्रेडिट कार्ड 15 दिन में जारी करने का निर्देश दिया है.

बैंक ऑफ महाराष्ट्र भी लागू करेगा नई ब्याज दरें
सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक ऑफ महाराष्ट्र (BoM) ने रविवार को कहा कि वह अपने रिटेल लोन को रेपो रेट से जोड़ेगा. इससे लोन सस्ते बनेंगे. बैंक ऑफ महाराष्ट्र ने कहा कि रिटेल लोन की ब्याज दर को रेपो रेट से जोड़कर बैंक ब्याज दर से जुड़े लाभ को सीधे ग्राहकों को पहुंचाएंगे. बता दें कि रेपो रेट से लोन की ब्याज दर जुड़ने के बाद रेपो रेट में आरबीआई द्वारा जब-जब बदलाव होगा, लोन की ब्याज दर भी बदलेगी.

1 सितंबर से बंद हो जाएगा आपका मोबाइल वॉलेट
अगर आप भी पेटीएम, फोनपे, गूगलपे जैसे मोबाइल वॉलेट का इस्तेमाल करते हैं, तो 31 अगस्त तक इनकी केवाईसी पूरी करा लें. केवाईसी पूरी न कराने के चलते 1 सितंबर से आपका मोबाइल वॉलेट काम करना बंद कर देगा. दरअसल भारतीय रिजर्व बैंक ने इन मोबाइल वॉलेट कंपनियों को अपने कस्टमर्स की केवाईसी पूरी कराने के लिए 31 अगस्त तक की समयसीमा दी थी, जिसके बाद बिना केवाईसी वाले वॉलेट बंद हो जाएंगे.

एसबीआई ने फिक्स्ड डिपॉजिट दरों में कटौती की
देश के सबसे बड़े बैंक SBI ने रिटेल फिक्स्ड डिपॉजिट और बल्क डिपॉजिट पर ब्याज की दर घटा दी है. वहीं बैंक ने सेविंग बैंक ब्याज दर में किसी तरह का बदलाव नहीं किया. 1 लाख रुपए तक के डिपॉजिट वाले ग्राहकों को सेविंग अकाउंट में 3.5 फीसदी ब्याज मिलता रहेगा. 1 लाख से ज्यादा डिपॉजिट वाले ग्राहकों के लिए ये दर 3 फीसदी पर ही स्थिर है. हालांकि बैंक ने रिटेल टर्म डिपॉजिट की दर में 0.1 फीसदी से 0.5 फीसदी की कटौती की है. वहीं बल्क डिपॉजिट रेट में 0.3 फीसदी से 0.7 फीसदी तक की कटौती की गई है.

बदल सकता है बैंकों के खुलने का समय
ज्यादातर लोग बैंक से जुड़े काम करने के लिए बैंक खुलने का इंतजार करते हैं. ज्यादातर सभी पब्लिक सेक्टर बैंक (PSU) सुबह 10 बजे खुलते हैं और लोग 10 बजे का इंतजार करते हैं. लेकिन अब बैंकों के खुलने की टाइमिंग बदल सकती है. ऐसा होने पर ग्राहकों की परेशानी कम होगी. वह ऑफिस जानें से पहले अपना बैंक से जुड़ा काम निपटा पाएंगे. ये नए नियम सितंबर से लागू होंगे. अगर ये नियम लागू होते हैं तो बैंक सुबह 9 बजे खुलेंगे. केंद्रीय वित्त मंत्रालय के बैंकिंग डिवीजन ने सभी सरकारी और क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों को सुबह 9 बजे खोलने का प्रस्तायव दिया है.

Facebook Comments

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *