हरियाणा विधानसभा चुनाव: आज पांच बूथों पर हो रहा पुनर्मतदान

हरियाणा के संयुक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉ. इंदरजीत ने बताया कि सोमवार को मतदान के दौरान पांच बूथों पर कुछ खामियां दिखीं जिसके बाद निर्वाचन आयोग ने इन बूथों पर पुनर्मतदान का आदेश दिया. बुधवार को पुनर्मतदान सुबह सात बजे से शाम छह बजे तक होगा.

(फोटो: पीटीआई)
(फोटो: पीटीआई)

चंडीगढ़: हरियाणा में ‘कुछ खामियों’ के चलते पांच विधानसभा क्षेत्रों के अंतर्गत पांच चुनाव बूथों पर बुधवार को पुनर्मतदान कराया जाएगा.

राज्य के संयुक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉ. इंदरजीत ने मंगलवार को बताया कि जींद जिले के उचाना कलां विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के बूथ नंबर 71, झज्जर जिले के बेरी निर्वाचन क्षेत्र के बूथ नंबर 161, नारनौल जिले की नारनौल विधानसभा सीट के बूथ नंबर 28, रेवाड़ी जिले के कोसली विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के बूथ नंबर 18 और फरीदाबाद जिले के पृथला विधानसभा क्षेत्र के बूथ नंबर 113 पर पुनर्मतदान के प्रबंध कर लिए गए हैं.

उन्होंने कहा, ‘हरियाणा में सोमवार को मतदान के दौरान पांच बूथों पर कुछ खामियां दिखीं जिसके बाद निर्वाचन आयोग ने इन बूथों पर पुनर्मतदान का आदेश दिया.’ इंदरजीत ने बताया कि बुधवार को पुनर्मतदान सुबह सात बजे से शाम छह बजे तक होगा.’

हरियाणा की 90 विधानसभा सीटों पर सोमवार को मतदान हुआ था. परिणाम बृहस्पतिवार को आएंगे. अधिकारियों ने कहा था कि मामूली घटनाओं को छोड़कर राज्य में चुनाव शांतिपूर्ण ढंग से हुआ.

इससे पहले हरियाणा में सोमवार को हुए विधानसभा चुनावों में 65.75 फीसदी वोट पड़े जो 2014 के चुनावों की तुलना में काफी कम है जब भाजपा राज्य में सत्ता में आई थी.

पुलिस ने बताया कि नूंह गांव में दो समूहों के बीच पथराव में सात लोग जख्मी हो गए और रोहतक, नारनौल तथा बहादुरगढ़ जिलों में ‘मामूली घटनाएं’ हुईं. लेकिन उन्होंने कहा कि 90 विधानसभा क्षेत्रों में चुनाव सामान्यत: शांतिपूर्ण रहा.

2014 के विधानसभा चुनावों में मतदान करीब 76.54 फीसदी हुआ था जबकि इस वर्ष लोकसभा चुनावों में दस संसदीय सीटों पर 70.36 फीसदी वोट पड़े थे. वर्तमान में राज्य विधानसभा में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी के 48 सदस्य हैं जबकि कांग्रेस के 17 विधायक हैं.

विधानसभा चुनाव में 1169 उम्मीदवार खड़े थे जिनमें प्रमुख हैं मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर, पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा, जननायक जनता पार्टी के नेता दुष्यंत चौटाला और इंडियन नेशनल लोकदल के अभय सिंह चौटाला.

भाजपा से रामबिलास शर्मा, अनिल विज, कैप्टन अभिमन्यु, ओ पी धनखड़ और कविता जैन जहां चुनाव मैदान में हैं वहीं कांग्रेस से रणदीप सिंह सुरजेवाला, किरण चौधरी, रणबीर महेन्द्र और कुलदीप बिश्नोई चुनाव लड़ रहे हैं.

भाजपा ने टिक टॉक स्टार सोनाली फोगाट और तीन खिलाड़ियों बबिता फोगाट, योगेश्वर दत्त तथा संदीप सिंह को उम्मीदवार बनाया .

खट्टर के नेतृत्व में भाजपा ने 90 विधानसभा सीटों में से 75 पर जीत का लक्ष्य तय किया है जबकि कांग्रेस सत्ता में वापसी के लिए लड़ रही है. चौटाला परिवार में बिखराव के बाद दस महीने पहले अस्तित्व में आई जजपा चुनावों में मुख्य प्रतिद्वंद्वी के तौर पर उभरकर सामने आई है.

इनेलो- शिरोमणि अकाली दल गठबंधन, आम आदमी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी, लोकतंत्र सुरक्षा पार्टी और स्वराज इंडिया भी चुनाव मैदान में हैं लेकिन इनमें से कोई भी 90 सीटों पर चुनाव नहीं लड़ रहा है.

अधिकारियों ने बताया कि टोहाना सहित कुछ मतदान केंद्रों पर इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन में खराबी आई लेकिन उन्हें तुरंत ठीक कर लिया गया और चुनाव प्रभावित नहीं हुआ.

जजपा नेता दुष्यंत चौटाला ने आरोप लगाया कि जींद जिले के दुमेरखा कलां गांव के एक मतदान केंद्र पर पुलिस अधिकारियों की मिलीभगत से ‘फर्जी वोट’ डाले गए. कई स्थानों पर शहरी इलाकों की तुलना में ग्रामीण क्षेत्रों में तेजी से वोट पड़े.

Facebook Comments

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *